कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में ऑनलाइन सुधार कैसे करे, जानिए पूरा प्रोसेस

Covid Vaccine Certificate Correction Online– देश में कोरोना के संक्रमण को पूरी तरह से नियंत्रित करनें के लिए टीकाकरण अर्थात वैक्सीनेशन अभियान लगातार जारी है। हालंकि कोविड वैक्सीनेशन में कोविन पोर्टल बहुत ही अहम् भूमिका निभा रहा है और सरकार इसे और बेहतर बनानें के लिए लगातार प्रयासरत है| इसी बीच सरकार नें कोविन पोर्टल एक नया फीचर और शामिल कर दिया है। इस नए फीचर की सहायता से आप अपनें वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट में नाम, लिंग से सम्बंधित सुधार कर सकते है|  हालांकि आपको यह भी रखना है, कि आप सर्टिफिकेट में संशोधन सिर्फ एक बार ही कर सकते है| कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में ऑनलाइन सुधार कैसे करे? इसके बारें में आपको यहाँ स्टेप बाई स्टेप पूरी जानकारी दे रहे है|

कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट ऑनलाइन कैसे प्राप्त करे, जानिए पूरा प्रोसेस

कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में सुधार कैसे करे (How to Improve Covid Vaccine Certificate)

देश में इस समय वैक्सीनेशन का कार्य युद्ध स्तर पर किया जा रहा है और इसके लिए सरकार द्वारा लगभग हर प्रकार की सुविधा मुहैया करायी जा रही है| दरअसल हम सभी अच्छी तरह से जानते है, कि कोरोना के प्रकोप से बचनें के लिए वैक्सीन के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं है| ऐसे अनेक लोग है जिन्होनें वैक्सीन की दोनों डोज लगवा लिया है, उन्हें इसका सर्टिफिकेट जारी किया जाता है|

कई बार अनजाने में कोविड रजिस्ट्रेशन के दौरान नाम, जन्मतिथि या लिंग की जानकारी गलत दर्ज ही जाती है| ऐसे में आपको परेशान होनें की जरुरत नहीं है, क्योंकि हाल ही में कोविन पोर्टल (Cowin Portal) के लिए नया अपडेट जारी किया है। इस अपडेट के बाद आप पोर्टल पर सर्टिफिकेट में मौजूद गलती में सुधार स्वयं ही कर सकते है।

कोरोना वायरस के कुल कितने वैरिएंट्स हैं, जानिए कौन कितना खतरनाक

वैक्सीन सर्टिफिकेट में सुधार के अवसर (Opportunities to Improve Vaccine Certificates)

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि आप कोविड सर्टिफिकेट में अपना नाम, जन्मतिथि और लिंग में बदलाव कर सकते है और सबसे कहस बात यह है, कि आप इन 3 व्यक्तिगत जानकारियों (Personal Information) में संशोधन करनें का अवसर (Chance) सिर्फ एक बार ही मिलेगा परन्तु कोई भी व्यक्ति इनमें से सिर्फ 2 जानकारियों को ही संशोधित कर सकेगा| आपके द्वारा अपडेट की हुई जानकारी फाइनल सर्टिफिकेट में दिखाई देगी| इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखे, कि आप जो भी जानकारी अपडेट करे, वह पूरी तरह से जांचने के बाद ही करे|

आरटी पीसीआर और रैपिड एंटीजन टेस्ट में अंतर क्या है 

कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में सुधार करनें की प्रक्रिया (Covid-19 Vaccine Certificate Correction Process)

  1. सबसे पहले आपको कोविन पोर्टल www.cowin.gov.in पर जाएं|

2. अब आपको अपने 10 अंकों के रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर साइन करन होगा| इसके लिए आपके मोबाइल पर एक OTP आयेगा|  

3. अब आप अकाउंट डिटेल्स में जाएँ

4. यदि आपने वैक्सीन की एक भी डोज लगवा लिया है, तो वहां Raise an Issue पर क्लिक करें|

5. इसके बाद आपको Correction In Certificate पर क्लिक करना होगा|

6. अब आपको ऐसी जानकारियों पर क्लिक करना होगा, जिनमें आप सुधार करना चाहते है|  

(इस बात का ध्यान रखे कि नाम, जन्म, वर्ष और लिंग में सिर्फ दो ही जानकारी सुधारी जा सकती है और एक बार ही संशोधन की स्वीकृति है, ऐसे में बदलाव करते समय सभी जानकारियों को सही तरीके से भरें)

7. अब आपको Continue पर क्लिक करन होगा|

8. इसके बाद दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें और आपकी जानकारियां अपडेट हो जाएंगी जो फाइनल सर्टिफिकेट में दिखाई देंगी|   

आपको बता दें, कि कोरोना के संक्रमण को देखते हुए कई देशों और राज्यों की यात्रा के लिए कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट की अनिवार्यता कर दी गयी है। ऐसे में आपके सर्टिफिकेट में किसी भी प्रकार की गलती आपके लिए एक बड़ी मुसीबत बन सकती है। आपके पहचान पत्र और वैक्सीन सर्टिफिकेट में एक ही जानकारी होनी चाहिए।

जीका वायरस (Zika Virus) क्या है? | लक्षण | रोकथाम | ईलाज की जानकारी

सोशल मीडिया पर वैक्सीन सर्टिफिकेट शेयर करने से बचे (Avoid Sharing Vaccine Certificate on Social Media)

होम मिनिस्टरी के अंतर्गत कार्य करनें वाली ऑर्गेनाइजेशन नें ट्वीट करते हुए बताया है, कि  कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में नाम, आयु और जेंडर के साथ ही अगले डोज की डेट सहित अनेक प्रकार की जानकारियां शामिल होती हैं। सोशल मीडिया पर इन जानकारियों को शेयर करना आपके लिए काफी घातक सिद्ध हो सकता है।

आपसे सम्बंधित इस जानकारियों के माध्यम से साइबर क्राइम करनें वाले लोग आपके साथ धोखाधड़ी कर सकते हैं, इसलिए वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को सोशल मीडिया पर बिल्कुल भी शेयर ना करें।

डबल म्यूटेंट (Double Mutant) वैरिएंट क्या है

कोरोना की जांच कैसे होती है | RT-PCR या मॉलिक्युलर टेस्ट | समय | खर्च

डेल्टा प्लस (Delta Plus) वैरिएंट क्या है | लक्षण | बचाव | वैक्सीन की जानकारी

Scroll to Top