प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 क्या है | पात्रता | लाभ और विशेषताएं | कार्यान्वयन प्रक्रिया

PM Poshan Shakti Nirman Scheme 2022 Kya Hai – देश में मौजूद सरकारी स्कूलों के करोड़ों बच्चों को 5 साल तक मुफ्त भोजन उपलब्ध कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू की गई है। केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के माध्यम से उन सभी बच्चों को लाभ प्रदान किया जाएगा जो सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

पोषण का महत्व: स्वस्थ जीवन के लिए आवश्यक टिप्स

अभी तक मध्याह्न भोजन योजना सरकार द्वारा संचालित की जा रही थी। जिसके माध्यम से बच्चों को भोजन कराया गया। अब इस योजना को प्रधानमंत्री शक्ति निर्माण योजना में शामिल किया जाएगा। इस योजना को 29 सितंबर 2021 को मंजूरी दी गई है। इस योजना के माध्यम से स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को सिर्फ भोजन देने के बजाय पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा। जिसके लिए मेन्यू में हरी सब्जियां और प्रोटीन युक्त भोजन को शामिल किया जाएगा। पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 क्या है ? पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना पात्रता, लाभ और विशेषताएं । कार्यान्वयन प्रक्रिया के बारें में आपको यहाँ पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है।

बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाये | पढ़ाई में मन लगाने के सरल उपाय

पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022एक दृष्टि में (PM Poshan Shakti Nirman Scheme 2022 at a Glance)

योजना का नामपीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना
लाभार्थीसरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले छात्र
लाभार्थियों की संख्या11.8 करोड़
स्कूलों की संख्या11.2 करोड़
उद्देश्यबच्चों को पौष्टिक आहार उपलब्ध कराना।
बजट1.31 लाख करोड़
प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना 2022 एक दृष्टि

पीएम पोषण शक्ति निर्माण योजना का बजट (PM Poshan Shakti Nirman Scheme Budget)

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के संचालन पर 1.31 लाख करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस योजना के संचालन के लिए केंद्र सरकार द्वारा 54061.73 करोड़ रुपये प्रदान किए जाएंगे और राज्यों का योगदान 31733.17 करोड़ रुपये होगा। केंद्र पौष्टिक खाद्यान्न खरीदने के लिए अतिरिक्त 45,000 करोड़ रुपये मुहैया कराएगा।

इसके अलावा पहाड़ी राज्यों में इस योजना के संचालन पर होने वाले व्यय का 90 प्रतिशत सेंट्रल गवर्नमेंट द्वारा वाहन किया जायेगा, जबकि 10 प्रतिशत व्यय राज्य सरकार द्वारा वहन किया जायेगा। इस स्कीम के माध्यम से पूरे देश के सभी गवर्नमेंट और गवर्नमेंट ऐडेड विद्यालयों में प्राइमरी क्लासेज के स्टूडेंट्स को भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

यह योजना वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक संचालित की जाएगी। राज्य सरकारों से प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से रसोइयों, खाना पकाने के सहायकों को मानदेय प्रदान करने का भी आग्रह किया गया है। यह राशि स्कूलों को डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (Direct Benefit Transfer – DBT) के माध्यम से भी उपलब्ध कराई जाएगी।

मध्याह्न भोजन क्या है (What is Midday Meal)

मध्याह्न भोजन योजना 1995 में केंद्र सरकार द्वारा प्राथमिक विद्यालयों (कक्षा 1-5 आयु 6-10 वर्ष) में बच्चों को मुफ्त पका हुआ भोजन प्रदान करने के लिए शुरू की गई थी। प्रारंभ में राज्यों ने इस योजना में भाग नहीं लिया, लेकिन 1999 और 2004 के बीच कार्यक्रम का कवरेज कई गुना बढ़ गया। मुख्य रूप से भारत के सर्वोच्च न्यायालय के एक आदेश के कारण राज्य सरकारों को प्राथमिक विद्यालयों में पका हुआ मध्याह्न भोजन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।

GOOGLE ने बच्चों के इंटरनेट इस्तेमाल के बदले नियम, यहाँ पढ़े पूरी खबर

PM पोषण शक्ति निर्माण योजना का उद्देश्य (PM Poshan Shakti Nirman Scheme Purpose)

इस योजना का मुख्य उद्देश्य सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराना है। कुपोषण दूर करने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गई है। इस योजना के माध्यम से बच्चों को पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि बच्चे कुपोषण का शिकार होने से बच सकें। इस योजना का लाभ करीब 11.8 करोड़ बच्चे प्राप्त कर सकेंगे। इस पर होने वाला खर्च केंद्र सरकार और राज्य सरकार वहन करेगी। अब देश के बच्चों को पौष्टिक आहार लेने के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा क्योंकि सरकार द्वारा उन्हें पौष्टिक भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डाले, जानिये ये 10 तरीके

पीएम पोषण शक्ति योजना के लाभ और विशेषताएं (PM Poshan Shakti Nirman Scheme Benefits and Features)

  • यह एक केंद्र प्रायोजित योजना है, जिसका उद्देश्य स्कूली बच्चों के पोषण स्तर को बढ़ाना है
  • पात्रता – सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों में पढ़ने वाले कक्षा I से VIII तक के सभी स्कूल जाने वाले छात्र लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं।
  • अवधि – पांच वर्ष की अवधि के लिए (2021-22 से 2025-26 तक)
  • योजना का कुल बजट रु. 1, 30,794.90 करोड़।
  • इस योजना का विस्तार सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त प्राथमिक विद्यालयों के पूर्व-प्राथमिक छात्रों या बाल वाटिका के लिए किया जाएगा।
  • तिथि भोजन (सामुदायिक भागीदारी कार्यक्रम जिसमें लोग विशेष अवसरों पर बच्चों को विशेष भोजन प्रदान करते हैं) की अवधारणा को व्यापक रूप से प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • सरकार स्कूलों में पोषण उद्यान के विकास को भी बढ़ावा दे रही है।
  • पीएम पोषण स्कीम का सोशल ऑडिट (Social Audit) सभी जिलों में अनिवार्य कर दिया गया है।
  • एनीमिया के उच्च प्रसार वाले आकांक्षी जिलों और जिलों में बच्चों को पूरक पोषण प्रदान करने के लिए विशेष प्रावधान किया गया है।
  • जातीय व्यंजनों को बढ़ावा देने के लिए ग्राम स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक सभी स्तरों पर पाक कला प्रतियोगिताओं को प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • स्कीम के कार्यान्वयन में किसान उत्पादक संगठनों (Farmer Producer Organizations-FPO) और महिला स्वयं सहायता समूहों (Women Self Help Groups – WSHG) की भागीदारी को प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • जबकि केंद्र सरकार द्वारा खाद्यान्न की पूरी लागत को वहन किया जाता है, जबकि उनके परिवहन, प्रबंधन, निगरानी और मूल्यांकन, खाना पकाने की लागत, रसोइयों और श्रमिकों को पारिश्रमिक जैसे खर्चो को केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के साथ 60:40 के अनुपात में विभाजित किया जाता है।
नई रोशनी स्कीम 2022 क्या है | ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | प्रशिक्षण कार्यक्रम और दिशानिर्देश

पोषण शक्ति योजना की पात्रता मानदंड (Poshan Shakti Nirman Scheme Eligibility Criteria)

यदि आप प्रधानमंत्री पोषण शक्ति योजना के तहत लाभ प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपको नीचे दी गई पात्रता को पूरा करना होगा:-

  • इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए उम्मीदवारों का भारत का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • उम्मीदवार को केंद्र सरकार द्वारा गरीबी रेखा से नीचे रहना चाहिए।
  • प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के तहत लाभ लेने के लिए आवेदक को सरकारी स्कूल का छात्र होना चाहिए।

पोषण शक्ति निर्माण योजना महत्वपूर्ण दस्तावेज (PM Poshan Shakti Nirman Scheme Documents)

इस स्कीम का लाभ गवर्नमेंट और गवर्नमेंट ऐडेड स्कूलों के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।

  • आधार कार्ड
  • राशन पत्रिका
  • पते का सबूत
  • आय का प्रमाण
  • उम्र का सबूत
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर

आवेदन करने की प्रक्रिया (PM Poshan Shakti Nirman Yojana Application Process)

यदि आप प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको कोई आवेदन करने की जरूरत नहीं है। इस योजना का लाभ आपको आपके विद्यालय के माध्यम से प्रदान किया जायेगा। ताकि देश के हर बच्चे को पौष्टिक आहार मिल सके। यह योजना बच्चों के जीवन स्तर को सुधारने में भी कारगर साबित होगी।

राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना (NFBS) क्या है | पात्रता दस्तावेज | ऑनलाइन आवेदन
Scroll to Top